केदारनाथ मंदिर के गर्भगृह से लाइव प्रसारण पर उठे सवाल

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने पीएम मोदी के केदारनाथ दौरे पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कैमरों के साथ मोदी के केदारनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना करने पर आपत्ति दर्ज कराई है।

रावत ने कहा कि पीएम मोदी साधारण भक्त का तरह जाते तो बेहतर होता लेकिन वो तो कैमरों के साथ सिर्फ लाइव प्रसारण कराने के लिए गए थे।

हरीश रावत ने कहा कि भाजपा का ‘अहंकार’ केदारनाथ आया था और अहंकार को भगवान शिव भी स्वीकार नहीं करते। भगवान शिव के लिए सभी लोग समान हैं। रावत ने ये भी कहा कि केदारनाथ में मोदी ने जिन कार्यों का लोकार्पण किया वो सब कांग्रेस सरकार ने अपने कार्यकाल में किए थे।

इधर उत्तराखंड कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष गणेश गोदियाल ने भी प्रधानमंत्री मोदी के बाबा केदारनाथ के गर्भ गृह से लाइव प्रसारण करने पर तीखा हमला बोला है।

उन्होंने कहा है कि गर्भगृह से लाइव प्रसारण करने से भक्तों की भावनाओं को ठेस पहुंची है। बाबा केदार के मंदिर में तस्वीर खींचना या वीडियो बनाना प्रतिबंधित है। इसके बावजूद प्रधानमंत्री ने वहां से लाइव प्रसारण कराया।

प्रदेशाध्यक्ष गणेश गोदियाल ने कहा कि इस गलती के लिए उन्होंने भगवान बाबा केदारनाथ से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को माफ करने की प्रार्थना की है।   

आपको बता दें कि आगामी 4 महीनों में उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में यहां पीएम मोदी के केदारनाथ दौरे को राजनीतिक चश्मे से देखा जा रहा है। विपक्ष मोदी के उत्तराखंड दौरे को सियासी बताने से भी नहीं चूक रहे हैं।

दोस्तों,केदारनाथ मंदिर के गर्भगृह से लाइव प्रसारण पर आपकी क्या प्रतिक्रिया है, हमें नीचे कमेंट कर बताएं ताज़ा खबरों और जानकारियों के लिए दैनिक नवोदय वेबसाइट को पढ़ते रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *